Friday, May 31, 2019

भरवां करेला रेसिपि

यूं तो करेला बहुत ही कड़वा होता है, लेकिन जब बात हो भरवा करेले की तो सुनते ही हर किसी के मुंह में पानी आ जाता है | आये भी क्यों न भरवा करेला होता ही है इतना स्वादिष्ट | तो चलिए आज हम आपको भरवा करेला बनाने की विधि बतायेंगे | इस विधि से बनाया गया करेला बिल्कुल भी कड़वा नहीं होता और बहुत ही स्वादिष्ट होता है...... 
Stuffed karela recipe in hindi,  recipe


भरवा करेला बनाने के लिए सामग्री 
ताजा करेला  - आधा किलो (छोटे साइज वाला)
बारीक कटा प्याज - 250 ग्राम
बारीक कटा टमाटर - 1 कप
हल्दी पाउडर - 1/2 चम्मच
धनिया पाउडर - 1 चम्मच
बारीक कटी हरी मिर्च -  2 चम्मच 
कश्मीरी मिर्च  -  1/2 चम्मच 
गरम मसाला  -  1/2 चम्मच 
अमचूर  -  1/2 चम्मच 
सरसों का तेल - आवश्यकतानुसार 
नमक  -  स्वादानुसार 
हरी धनिया पत्ती - 2 चम्मच (बारीक कटी हुई) 
अदरक लहसुन का पेस्ट - 3 चम्मच 
जीरा  - 1/2 चम्मच 

करेला तैयार करने की विधि 
सबसे पहले सभी करेले को छीलकर अच्छी तरह धो लें | फिर सभी करेले को बीच से चीर कर बीज निकालकर अलग कर लें और सभी करेलों में नमक लगाकर 2-3 घंटे के लिए धूप में रख दें|
फिर करेले को अच्छी तरह धोकर एक बर्तन में डालें और उसमें पानी डालकर उबालने के लिए गैस पर रख दें | करेले को हल्का गलने तक उबालें | उबालते समय करेले के बर्तन को ढ़के नहीं | जब करेला हल्का गल जाये तो गैस बंद कर दें और करेले को गरम पानी से निकालकर ठंडे पानी में डालें और अच्छी तरह धोकर करेले का पानी हाथ से दबा कर निचोड़ लें | अब करेले को प्लेट में अलग रख दीजिए | अब हम आपको स्टफिंग तैयार करने की विधि बतायेंगे..... 

स्टफिंग तैयार करने की विधि 
एक कड़ाही में तेल गरम करें और उसमें जीरा डालें, जब जीरा भून जाये तो उसमें अदरक लहसुन का पेस्ट डालकर भूने | फिर उसमें प्याज डालकर हल्का ब्राउन होने तक भूने | फिर हल्दी पाउडर डालकर मिलायें और टमाटर भी डाल दें| अब इसमें धनिया पाउडर, कश्मीरी मिर्च, हरी मिर्च, गरम मसाला और नमक डालकर अच्छी तरह मिक्स करें और 5 मिनट के लिए ढ़ककर कम आंच पर पकाएं| 5 मिनट के बाद चैक करके गैस से उतार लें |

स्टफिंग को करेले में भरने की विधि 
अब हमने जो करेले के लिए स्टफिंग तैयार की है उसे करेले के अंदर भरते हैं | आप एक छोटी चम्मच से स्टफिंग को थोड़ा थोड़ा सभी करेलों में भर दीजिए | अब एक कड़ाही में तेल गरम करें और उसमें एक एक करेला छोड़ दें | करेले में भरने के बाद यदि स्टफिंग बच जाये तो उसे भी कड़ाही में डाल दें और कड़ाही को ढ़ककर कम आंच पर करेले को पकायें| करेले को बीच बीच में चलाते रहें ताकि वो जले ना | जब करेले का रंग ब्राउन होने लगे तो गैस बंद कर दें | बस तैयार है स्वादिष्ट भरवां करेला |

जरूरी बातें ध्यान दें 
भरवां करेला बनाते समय कुछ जरूरी बातों का ध्यान भी रखना चाहिए.... 
1- करेले को उबालते समय करेले के बर्तन को ढ़के नहीं क्योंकि करेले को खुला उबालने से भाप के साथ करेले का कड़वापन निकल जाता है | आप चाहे बर्तन को आधा ढ़क दें और थोड़ा भाप निकलने के लिए खुला छोड़ दें |
2- करेले को उबालते समय हल्का गलने तक ही उबालें क्योंकि ज्यादा गलने से करेले में स्टफिंग ठीक से नहीं भर पायेगी |
3- करेले के बीज को स्टफिंग में ना मिलायें क्योंकि करेले का बीज कड़वा होता है, स्टफिंग में मिलाने से स्टफिंग का टेस्ट भी कड़वा हो जाता है|

टिप्स
1- आप चाहे तो करेले को भरने के बाद धागे से बांध सकते हैं लेकिन धागा मोटा होना चाहिए | पतले धागे से  लपेटने पर करेला खाते समय धागा निकालने में बहुत परेशानी होती है |

2- करेले की स्टफिंग तैयार करते समय यदि आम के आचार का गूदा या आचार का तेल भी डाल दें तो करेले का स्वाद और भी बढ़ जायेगा |

Friday, May 24, 2019

वेजिटेबल पोहा रेसिपि

दिन की अच्छी शुरुआत के लिए सुबह के नाश्ते में पोषक तत्वों को शामिल करना चाहिए | आज हम आपको पोहा बनाने की विधि बतायेंगे जो स्वादिष्ट होने के साथ साथ पोषक तत्वों से भरपूर है| तो चलिए शुरू करते हैं आज की रेसिपि..... 

Poha recipe in hindi,  recipes
Vegetable Poha Recipe 

पोहा बनाने के लिए सामग्री 
पोहा - 2 कप
मटर  - 1/2 कप
बारीक कटा प्याज - 1
बारीक कटा टमाटर - 3
बारीक कटी मिर्च - 1
लहसुन का पेस्ट - 1 चम्मच 
सौंफ  - 1 चम्मच 
सरसों के दाने  - 1 चम्मच 
हल्दी पाउडर - 1/2 चम्मच 
हींग  - 1/4 चम्मच 
लाल मिर्च पाउडर - 1 चम्मच 
धनिया पाउडर  - 1 चम्मच 
करी पत्ता - 10
बारीक कटी धनिया पत्ती - 1 चम्मच 
तेल  - 2 चम्मच 
नींबू का रस  - 2 चम्मच
बारीक कटी शिमला मिर्च - 1
कद्दूकस किया गाजर - 1/2
नमक  - स्वादानुसार 

पोहा बनाने की विधि 
सबसे पहले पोहा को धोकर छलनी में डाल कर रख दें, ताकि उसका सारा पानी निकल जाये| एक पैन में पानी डालकर उबालें और उसमें मटर डालकर 4-5 मिनट तक पकायें, जब मटर गल जाये तो पानी से निकालकर रख लें| 

अब एक पैन में तेल गरम करें और उसमें सरसों के दाने चटकायें| सौंफ को दरदरा पीसकर पैन में डालें, लहसुन का पेस्ट और प्याज को भी पैन में डालकर 2-3 मिनट तक भूने | अब इसमें टमाटर और हरी मिर्च डालकर अच्छी तरह पकायें | फिर हल्दी पाउडर, धनिया पाउडर, लाल मिर्च पाउडर नमक और करी पत्ता डालकर अच्छी तरह मिक्स करें | 

अब इसमें गाजर, मटर और शिमला मिर्च भी डाल दें, अच्छी तरह मिक्स करके 5-6 मिनट तक पकायें | अब इसमें पोहा और नींबू का रस डालकर अच्छी तरह मिलायें | पैन को ढ़ककर 10 मिनट धीमी आंच पर पकायें | बस तैयार है स्वादिष्ट वेज पोहा | आप  इसे धनिया पत्ती से गार्निश करके सर्व कीजिए |


जरूरी बातें ध्यान दें 
पोहा बनाते समय कुछ जरूरी बातों को भी ध्यान रखना चाहिए.... 
1- पोहा को ज्यादा देर तक पानी में भिगोकर नहीं रखना चाहिए क्योंकि पानी में रहने से पोहा ज्यादा गल जायेगा और उसका स्वाद खराब हो जायेगा |
2- मटर को अच्छी तरह गल जाने पर ही पोहा में डालें नहीं तो खाते समय कच्ची मटर स्वाद खराब कर देगी|
3- गाजर को पोहा में कद्दूकस करके ही डालें काटकर डालने से गाजर गलेगी नहीं|

Thursday, May 9, 2019

लस्सी बनाने की विधि और लाभ

गर्मियों की में एक लस्सी का गिलास ही दिनभर की थकान को दूर करने के लिए पर्याप्त है | लस्सी पीने के बहुत फायदे भी होते हैं | आज हम आपको लस्सी बनाने की विधि और इसे पीने के लाभ बतायेंगे...... 
lassi recipe in hindi, recipes
Lassi recipe 


लस्सी बनाने के लिए सामग्री
दही -  आधा किलो
शक्कर - स्वादानुसार 
ड्राई फ्रूट - 1 चम्मच पीसे हुए 
इलायची पाउडर - 1/2 छोटा चम्मच 
बर्फ  - 6-7 क्यूब

लस्सी बनाने की विधि
सबसे पहले दही को दो बड़े बर्तन में डालकर फेंट लें या फिर ब्लेंडर में 2-3 राउंड लगा लें | दही को चैक करके देखिए कि वह अच्छी तरह मिक्स हो जानी चाहिए| इसके बाद दही में बर्फ, शक्कर और इलायची पाउडर डालकर फिर से दो राउंड घुमायें| यदि दही गाढ़ी लगे तो इसमें आवश्यकतानुसार फ्रिज का ठंडा पानी डाल लें और फिर से ब्लेंडर में राउंड लगा लें | फिर लस्सी को गिलास में डालकर ऊपर से ड्राई फ्रूट डालकर ठंडा ठंडा सर्व कीजिए |

लस्सी पीने के लाभ 
1- लस्सी गर्मियों में शरीर की अत्यधिक गर्मी को दूर करने में उपयोगी है |
2- लस्सी पीने से पित्त विकार दूर होता है |
3- लस्सी पीने से कब्ज की शिकायत भी दूर होती है |

Tuesday, May 7, 2019

आम पन्ना बनाने की रेसिपि

कड़कती धूप, लू चलना भीषण गर्मी मानो शरीर को सुखाने के लिए तैयार हो गई है, लेकिन इन सभी को मात देने के लिए आज हम आपके लिए बहुत ही खास रेसिपि लाये हैं | जी हां  भीषण गर्मी और लू के थपेड़ो को मात देने के लिए आम पन्ना बहुत ही अच्छा होता है | तो चलिए शुरू करते हैं आज की रेसिपि.....

Aam panna recipe in hindi, recipes in hindi
Aam Panna Recipe 

आम पन्ना बनाने के लिए सामग्री 
कच्चे आम -1 किलो
चीनी  -  1 कप
काला नमक - स्वादानुसार 
पुदीना पत्ती -  20-30
भुना हुआ जीरा - 1 चम्मच 


बनाने की विधि 
सबसे पहले सभी आमों को धोकर छील लें | छीले हुए आम का गूदा निकाल लें और गुठली फेंक दें | अब आम के गूदे में  2 गिलास साफ पानी डालकर उबालें | जब आम गल जाये तो गैस बंद कर दें और ठंडा होने के लिए छोड़ दें | अब मिक्सी में भुना हुआ जीरा डालकर 1-2 राउंड घुमायें | अब आम को ठंडा होने के बाद छान लें | आम के गूदे को मिक्सी में जीरा के साथ ही डाल दें | फिर इसमें पुदीना, काला नमक और चीनी डालकर अच्छी तरह पीस लें | इस पीसे हुए मिश्रण को जिस पानी को छानकर गूदा अलग किया था उसी में डालकर अच्छी तरह मिक्स करें | मिश्रण गाढ़ा हो तो उसमें ठंडा पानी डाल लें| बस तैयार है स्वादिष्ट आम पन्ना इसको बोतल में भरकर फ्रीज में रख लें |

आम पन्ना पीने के लाभ
1- आम पन्ना गर्मी और लू से बचाकर शरीर के तापमान को स्थिर रखता है |
2- गर्मी में पसीना अधिक आने से शरीर में नमक और लोह तत्वों की कमी हो जाती है | आम पन्ना पीने से इन तत्वों की कमी नहीं होती है |
3- आम पन्ना में विटामिन-सी अधिक होने के कारण ये हमारी प्रतिरक्षी तंत्र को स्वस्थ रखता है|
4- आम पन्ना रक्त धमकियों के लचीलेपन को बढ़ाता है |
5- आम पन्ना शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है |
6- यह कब्ज और बदहजमी को भी दूर करता है|

Sunday, May 5, 2019

कुल्हड़ वाली मीठी दही

गर्मियों के मौसम में दही खाने का मजा ही अलग होता है, लेकिन यदि दही मिट्टी के कुल्हड़ में बनी हो तो उसका स्वाद दुगुना बढ़ जाता है | तो चलिए आज हम आपको कुल्हड़ में मीठी दही बनाना बतायेंगे...... 
Sweet curd recipe, recipe in hindi
Sweet curd recipe 

कुल्हड़ वाली दही के लिए सामग्री 
दही - 4 बड़े चम्मच 
दूध  - 1 लीटर
शक्कर - 250 ग्राम
कुल्हड़ - 500 मिली वाला

बनाने की विधि 
सबसे पहले दूध को एक बर्तन में डालकर तब तक उबालें जब तक वह आधा हो जाये| उबालते समय थोड़ी थोड़ी देर बाद दूध को चलाते रहें| जब दूध आधा रह जाये तो गैस बंद कर दीजिए और दूध को हल्का ठंडा होने दीजिए | इसके बाद दूध में शक्कर डालकर अच्छी तरह मिक्स करें फिर इसमें दही डालें और तीनों को अच्छी तरह मिक्स करें | अब मिट्टी के बर्तन में इस मिश्रण को डालकर जमने के लिए रख दें| दही जम जाने के बाद कुल्हड़ को 20 मिनट के लिए फ्रिज में रख दें| बस तैयार है ठंडी ठंडी कुल्हड़ वाली मीठी दही खुद भी खायें और परिवार में भी सबको खिलायें |

जरूरी बातें ध्यान दें 
मीठी दही बनाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.... 
1- दही जमाने के लिए ध्यान रखें कि दूध न तो ज्यादा तेज गरम होना चाहिए और न ही बिल्कुल ठंडा होना चाहिए | 
2- तेज गरम दूध में जब जमने के लिए दही डालते हैं तो दूध फट जाता है |
3- बिल्कुल ठंडे दूध में जब जमने के लिए दही डालते हैं तो दही ठीक से नहीं जमेगी |
4- दही जमाने के लिए दूध में जो दही डालते हैं ध्यान रखें कि वह बहुत ज्यादा खट्टी न हो |

Friday, May 3, 2019

Rasgulla recipe in hindi

यदि कुछ मीठा खाने का मन हो और सफेद रसगुल्ला मिल जाए तो सोने पे सुहागा जैसा लगता है, क्योंकि ये अधिकतर लोगों की पसंद होता है | तो चलिए आज हम आपको इसकी बहुत ही आसान रेसिपि बताते हैं ताकि जब रसगुल्ला खाने का मन हो तो बाजार से लाने के बजाय आप घर में ही स्वादिष्ट रसगुल्ला तैयार कर पायें.....

Rasgulla recipe in hindi, recipes
Rasgulla recipe

रसगुल्ला बनाने के लिए सामग्री 
चीनी  - 5 कप
दूध    - 1/2 कप
मैदा   -  2 चम्मच 
छेना   - 1 किलो



रसगुल्ला बनाने की विधि 
सबसे पहले छेना को किसी साफ कपड़े में डालकर बांध लीजिए और उसका सारा पानी निकाल लीजिए | इसके बाद छेना को कपड़े से निकालकर एक बर्तन में डाल लीजिए और अच्छी तरह मसलकर छोटी छोटी बॉल्स बना लीजिए | एक प्लेट या थाली में चारों तरफ मैदा बुरक दीजिए | छेना की बॉल्स बनाकर इसी थाली में रखें बॉल्स चिपकेंगी नहीं|



चाशनी बनाने की विधि 
एक कड़ाही में दूध, चीनी और तीन कप पानी डालकर गैस पर रखें| जब पानी उबलने लगे तो गैस कम कर दें | 5 मिनट बाद कड़ाही में एक कड़ाही में एक कप पानी और डाल दें और तेज आंच करके पकायें | दो - चार उबाल आने के बाद गैस धीमी कर दें| कुछ देर चाशनी को धीमी आंच पर पकाकर आंच से उतार लें | चाशनी हल्की ठंडी होने पर फिर से आंच पर रखें और खौलने तक पकायें | 

अब रसगुल्ला की तैयार की गई बॉल्स को धीरे धीरे चाशनी में छोड़ें| इसके बाद 15 - 20 मिनट तक चाशनी को धीमी आंच पर पकाएं | अब एक रसगुल्ले को हाथ से दबा कर देखें, रसगुल्ला पका होने पर दबाकर छोड़ने पर पुन: अपने आकार में आ जाता है| रसगुल्ले पकने के बाद ठंडा होने के लिए छोड़ दीजिए और फिर ज्यादा ठंडा करने के लिए फ्रिज में रख दीजिए |


जरूरी बातें ध्यान दें 
रसगुल्ला बनाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है.... 
1- छेना की बॉल्स बनाते समय ध्यान रखें कि छेना में पानी बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए क्योंकि पानी होने पर बॉल्स का आकार सही नहीं बनेगा |
2- छेना की बॉल्स बनाते समय यह भी ध्यान रखें कि बॉल्स में दरारे न हो नहीं तो चाशनी में पकाते समय रसगुल्ले फूट जायेंगे |
3- चाशनी बनाते समय ध्यान रखें कि चाशनी बहुत ज्यादा गाढ़ी न हो क्योंकि गाढ़ी चाशनी ठंडी होने पर जम जाती है |